कभी सोचा है कि बियर हरे और भूरे रंग की बोतल में ही क्यों आती है ?

दुनिया में लाखों लोग बियर पीना का शोक रखते है | उनके सामने अगर बियर का नाम भी लेलो तो उनकी आखों में चमक आ जाती होगी| पर शयद उन बियर पियक्कड़ों को ये नहीं पता होगा ,कि बियर हरे और भूरे रंग की बोतल में ही क्यों पैक करा जाता है |
और आपको बता दे की दुनिया में सबसे पुराना और लोकप्रिय माने जाने वाली एल्कोहोलिक ड्रिंक बियर है ऐसा क्यों होता है। कि बियर हरे और भूरे रंग की बोतल में ही क्यों पैक करा जाता है | दरअसल, पहले के समय बियर की बोतलें सफेद कलर में आती थी लेकिन सूर्य की रौशनी में आते ही उसमें से गंध आने लगती थी। क्योंकि सफेद बोतल सूर्य की किरणों को अवशोषित कर लेती है इसलिए बियर को रंगीन बोतलों में रखना शुरू कर दिया गया।

ऐसे में प्रीमियम ब्रुअरीज का मानना था कि अगर बियर को कलर बोतलों में रखा जाए तो यह सुरक्षित रहेगी। खासतौर पर उन्होंने हरे और भूरे रंगों पर काफी जोर दिया। ये दोनों ही कलर सूर्य के प्रकाश को अपने ऊपर हावी नही होने देती है। इतना ही नहीं इसके अंदर बियर का स्वाद भी नहीं बदलता और वह खराब भी नहीं होती है। आज बाजार में आपको हरे और भूरे रंग की बोतलों में बियर आसानी से मिल जाएगी।