गूगल की नौरकी छोड़ बेच रहा है समोसे

गूगल की नौरकी छोड़ बेच रहा है समोसे ऐसा सुनकर शायद आप उस आदमी को बेवकूफ ही कहेगे | सुनकर तोडा अजीब लग रहा है पर सच है
मुनाफ कपाड़िया ने समोसे बेचने के लिए गूगल की नौकरी छोड़ दी। मुनाफ से समोसा बेचना शुरू किया और इस तरह बेचा कि अपनी कंपनी का सालाना टर्नओवर 50 लाख पहुंच दिया| अब आपकी चौक तो जरूर ली होगी |
जी हाँ मुनाफ कुछ ऐसे समोसे बेच रहे है जिससे उनका टर्न ओवर ५० लाख का हो गया है |
कुछ सालों तक गूगल में नौकरी करने के बाद मुनाफ को लगा कि वो इस काम क लिए नहीं है, वह इससे बेहतर काम भी कर सकते हैं। बस फिर क्‍या था, दिमाग में बिजनेस का नया आईडिया लेकर वह घर लौटे और उन्‍होंने यहां अपना समोसे का बिजनेस शुरू कर दिया।
एक IT इंजीनियर के लिए गूगल जैसी कंपनी में काम करना सपना होता है गूगल में नौकरी करने का मतलब है पूरी जिंदगी शान और आराम से जीना | लेकिन एक शख्स ऐसा भी है जिसने गूगल की अच्छी खासी नौकरी छोड़ समोसे बेचने का निरणय लिया |

मुनाफ कपाड़िया के फेसबुक प्रोफाइल के बायो में लिखा है कि “मैं वो व्यक्ति हूं जिसने समोसा बेचने के लिए गूगल की नौकरी छोड़ दी।” लेकिन उनके समोसे की भी खासियत है कि वह मुंबई के पांच सितारा होटलों और बॉलिवुड में खासा लोकप्रिय है। मुनाफ ने एमबीए की पढ़ाई की थी और उसके बाद उन्होंने कुछ कंपनियों में नौकरी की और फिर चले गये विदेश। विदेश में ही कुछ कंपनियों में इंटरव्‍यू देने के बाद मुनाफ को गूगल में नौकरी मिल गई। कुछ सालों तक गूगल में नौकरी करने के बाद मुनाफ को लगा कि, वह इससे बेहतर काम कर सकते हैं। बस फिर क्‍या था, दिमाग में बिजनेस का नया आईडिया लेकर वह घर लौटे और उन्‍होंने यहां अपना बिजनेस शुरू कर दिया।