पहली बार फ्लाइट में सफर करने से पहले जरूर जाने ये बातें

एयरोप्लेन  में यात्रा करने का मन सबका करता है और इसी को ध्यान  में रखते हुए कई एयरलाइन्स कंपनी ने पिछले कुछ सालो में अपने किराये में काफी कटौती करी है एयरोप्लेन में पहली बार सफर करते वक़्त अधिकतर यात्री नर्वस फील करते है। लेकिन कुछ एक बातों का ध्यान रखकर अपने पहले हवाई सफर को एक यादगार यात्रा भी बनाया जा सकता है। इसलिए यदि आप पहली बार एयर ट्रैवल कर रहे हैं तो नर्वस होने की कोई आवश्यकता नहीं है। आपके दिमाग में तमाम तरह के सवाल होंगे। लेकिन कुछ बेसिक तैयारी करके आप टेंशन फ्री होकर अपने सफर के लिए तैयार हो सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बता रहे है जिनका ध्यान नए पैसेंजर्स को फ्लाइट में ट्रैवल करते वक़्त रखना चाहिए।

air-travel-tips

1. फोन या इंटरनेट से फ्लाइट का शेड्यूल चेक करे, ताकि कोई भी चेंज होने पर परेशान न होना पड़े। शेड्यूल डिपार्चर से दो घण्टा पहले एयरपोर्ट पहुंचे।

2. फ्लाइट टिकट का प्रिंट आउट, फोटो कॉपी या ईमेल हमेशा साथ रखे। एसएमएस वैलिड नहीं माना जाता है।

3. ऑरिजिनल आइडेंटिटी कार्ड जैसे पासपोर्ट, पैन कार्ड, वोटर आईकार्ड रखे। बच्चा साथ है तो उसका बर्थ सर्टिफिकेट भी रखे।

4. बैगेज रूल्स के मुताबिक बैग पैक करे। फ्लाइट में एक केबिन बैग अलाउ है और दो बड़े चेक-इन बैग एयरलाइन काउंटर पर देने होते है।

5. अपने साथ प्रोहिबिटेड सामान न रखे, जैसे नुकीली चीजे, हथियार, लाइटर, ब्लेड, जहरीली, रेडियोएक्टिव और एक्सप्लोसिव आइटम्स।

6. एयरपोर्ट पर एंट्री करते समय फ्लाइट टिकट की कॉपी और आईडी प्रूफ सिक्युरिटी फ़ोर्स मेंबर्स को दिखाना होगा। तभी एंट्री मिलेगी।

7. बैगेज एक्स-रे स्क्रीनिंग काउंटर पर चेकिंग करवाएं। इसके बाद बैग्स पर स्टिकर लगाया जाएगा, जिसे निकाले बगैर बैग ओपन करना पॉसिबल नहीं होता। इसलिए बैग ओपन न करे।

8. एयरपोर्ट पर सभी एयरलाइंस के काउंटर बने होते है। जिस एयरलाइन से आपकी बुकिंग है, उसी काउंटर पर जाकर टिकट दिखाएं।

9. स्टाफ मेंबर आईडी चेक करने के बाद आपको बोर्डिंग पास देंगे यानि आप प्लेन में बैठने के लिए तैयार है। चाहे तो आप विंडो सीट की डिमांड कर सकते है।

10. आपको चेक-इन काउंटर पर बोर्डिंग पास और आईकार्ड दिखाना होगा। चेकिंग प्रोसेस के बाद बेग्स का वेट चेक कर टैग लगाकर फ्लाइट के कार्गो सेक्शन में भेजेंगे, जो लैंडिंग के बाद आपको हैंडओवर कर दिया जाएगा।

11. हैंड बैग में बैगेज टैग अटैच कर ले। हैंड बैग की स्क्रीनिंग करवाएं। अगर इसमें लेपटॉप है तो इसे पहले ही निकाल ले। लैपटॉप, वॉलेट और मोबाइल की अलग से स्क्रीनिंग करवाएं।

12. अब सिक्युरिटी फ़ोर्स मेंबर्स आपकी चेकिंग करेंगे और बोर्डिंग पास पर स्टाम्प लगाकर आपको वापस दे देंगे। अब पास में बताए गए एंट्री गेट की ओर मूव करे। वही, आपकी फ्लाइट और सीट नम्बर की डिटेल्स भी मिल जाएगी।

13. टेकऑफ के आधे घण्टे पहले टर्मिनल गेट खोला जाएगा। यहां दोबारा आपको बोर्डिंग पास और हैंडबेग चेक करवाना होगा।

14. कई बार प्लेन टर्मिनल गेट से दूर खड़ा होता है। ऐसे में बस से प्लेन पर आपको ड्रॉप किया जाता है। या प्लेन एरोब्रिज से जुड़ा होता है, तो आप डायरेक्ट एंट्री कर सकते है।

15. अब एयरहोस्टेज आपका सीट नम्बर पूछकर गाइड करेगी। सीट मिलते ही ठीक ऊपर बनी जगह पर हैंड बेग रखे।

16. टेकऑफ से पहले क्रू मेंबर जरूरी इंस्ट्रक्शन देंगे, उन्हें फॉलो करे और अब सीट बेल्ट लगाकर फ्लाइट के लिए रेडी हो जाएं।

17. कैप्टन की ओर से भी जर्नी, वेदर और फ्लाइट के बारे में अनाउंसमेंट होगा। विंडो कवर खोलने, फ़ूड ट्रे फोल्ड करने, मोबाइल ऑफ़ करने और सीट की पोजिशन सीधी करने के इंस्ट्रक्शन मिलेंगे। कोई डाउट हो तो एयर होस्टेज से हेल्प ले।

18. टेकऑफ के बाद एयरप्रेशर में बदलाव होने से कान में लाइट पेन की प्रॉब्लम हो सकती है। च्युइंगम खाकर या इयरबड्स लगाकर इसे कुछ कम किया जा सकता है।

19. एयरलाइन और फ्लाइट जर्नी ड्यूरेशन के हिसाब से आपको फ्री फ़ूड और ड्रिंक्स सर्व किया जाएगा। आप चाहे तो बाद में भी कोई फ़ूड आइटम ले सकते है, लेकिन उनके रेट ज्यादा होते है।

20. लैंडिंग से पहले दोबारा आपको विंडो कवर खोलने, फ़ूड ट्रे फोल्ड करने, मोबाइल ऑफ़ करने और सीट की पोजिशन सीधी करने के इंस्ट्रक्शन मिलेंगे।

21. लैंडिंग के बाद आप सीट बेल्ट खोल सकते है। अब बस या एरोब्रिज से टर्मिनल तक जाना होगा। एयरपोर्ट पर लगे साइनबोडर्स फॉलो करे और बैगेज काउंटर से बैग ले ले।

22. एयरपोर्ट पर लगातार कई फ्लाइट्स लैंड होती रहती है, इसलिए डिस्प्ले में आपकी फ्लाइट डिटेल शो होने पर आपका सामान मूविंग बेल्ट के जरिए यहां पहुंच जाएगा। इसमें आधा घण्टा लग सकता है।

23. फ्लाइट का नम्बर डिस्प्ले होते ही स्टिकर देखकर अपना लगेज ले लीजिए। अब आप एयरपोर्ट से बाहर निकल सकते है।